Python Tutorial for Beginners in Hindi #1

Learn python in hindi

पाइथन पढ़ने से पहले आइये समझते हैं पाइथन से जुड़ी कुछ बातें जैसे 

पाइथन क्या है

पाइथन एक हाई लेवल (High-level) ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड (Object Oriented) प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है| इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को Guido van Rossum ने 1980 दशक में बनाया था| पाइथन के कोड को पढ़ना और समझना दोनों बहुत आसान है, पाइथन बहुत ही सरल तरीके से समझ में आने वाली प्रोग्रामिंग लैंग्वेज हैऔर बड़ी बात ये है कि पाइथन बहुत पावरफुल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है|

क्यों पढ़ना चाहिए पाइथन ?

जैसा कि हम जानते हैं कि बहुत सारी हाई लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज होती है जैसे कि C, C++ और जावा, लेकिन ख़ुशी की बात यह हैं कि सारी हाई लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज लगभग एक जैसी ही होती हैं |  और जो थोड़ा बहुत अंतर होता हैं तो उनके सिंटेक्स (Syntax) में होता है|

और अगर आप प्रोग्रामिंग में नए है तो आप को पाइथन से शुरुआत  चाहिए क्युकी पाइथन समझने में काफी आसान है प्रोग्रामिंग बिगिनर्स के लिए पाइथन एक बेस्ट लैंग्वेज साबित होती है| पाइथन में बहुत सारे प्रोग्राम तो कुछ ही lines के रहते है| जबकी उसी प्रोग्राम को दूसरी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे Cमें अगर बनाए तो वह काफी ज्यादा lines के होंगे| प्रोग्राम में कम lines होने के कारण error होने कि संभवना कम हो जाती है| पाइथन का use बहुत बड़े बड़े कामों के  किया जाता है जैसे desktop applications, network programming, database applications, game programming and even mobile development|

और आखिरी लेकिन सबसे महत्पूर्ण पाइथन एक cross platform language है मतलब पाइथन का कोड अगर विंडोज (windows) में लिखा गया है तो वह दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम में  बड़े ही आसानी से चल जायेगा वो भी बिना किसी changes के|   

पायथन को कैसे डाउनलोड और इंस्टॉल करें?

पाइथन डाउनलोड करने पहले आपको अपने laptop / desktop कि कुछ जानकारी होनी चाहिए जैसे कि

  1. आपके laptop/desktop में कौन सा ऑपरेटिंग सिस्टम (OS)इनस्टॉल है|
  2. आपके laptop/desktop का ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) कितने बिट (bit) का हैं|

ठीक हैं, अब कोई भी web browser खोले जैसे google chrome या कोई भी जो आप use करते हैं| browser खोलने के बाद https://www.python.org/downloads/ लिंक को खोले| लिंक खोलने पर कुछ इस  तरह दिखेगा

How to download python

मान के चलते है कि आपका computer का Oprerating System  windows  64 bit हैं| हाईलाइट की हुई बटन में क्लिक करके पाइथन का पैकेज डाउनलोड करे| एक बार आपका पैकेज/इंस्टालर सफलता पूर्वक डाउनलोड हो जाए उसके बाद installer को राइट क्लिक करके Run as administrator में क्लिक करके  install करे| install करना बड़ा ही आसान होता है बस next बटन click करना है| 

How to install python

ध्यान दे पाइथन install करते समय इसमें (Add  Python 3.7 to PATH ) में क्लिक हो| हालांकि यदि क्लिक नहीं होगा तो भी पाइथन install हो जायेगा बस आपको पाइथन का path अलग से set करना पड़ेगा|

पहला पायथन प्रोग्राम कैसे लिखें ?

हालांकि, पाइथन में coding करने के लिए अलग से किसी भी IDE (Integrated Development Environment) कि जरुरत नहीं होती लेकिन अगर एक अच्छा IDE हो तो उसमे coding करना थोड़ा आसान हो जाता है कारण कि IDE आपको हमेशा सुझाव देता रहता है जिसके कारण error होने कि संभावना भी कम हो जाती हैं| अगर IDE उपयोग करे तो सवाल ये उठता है कि पाइथन के लिए कौन सा IDE best होता हैं| यहाँ पर पाइथन के कुछ अच्छे IDE list कर रहे है-

  •  VS Code    
  • Pycharm
  •  Spyder
  •  Eclipes

हम यहाँ पे Microsoft का VSCode उपयोग करने वाले है कारण VSCode फ्री हैं और बहुत ही lite weight IDE हैं| VSCode को डाउनलोड और install करने के लिए VSCode कि official साइट https://code.visualstudio.com/download पर जाए और अपने ऑपरेटिंग सिस्टम के हिसाब से VSCode का installer डाउनलोड और install करे| 

How to download VSCode

VSCode install होने के बाद आपको एक extension download करना होगा, उसके लिए आपको VSCode open करना होगा और extension tab में जाके पाइथन extension download करना होगा|

How to download extension in VScode

चलिए, अब लगभग सारे setup पूरे हो गए हैं अब हम अपना पहला पाइथन का प्रोग्राम बनाते हैं, उसके लिए आप एक फोल्डर बनाये कहीं भी जहाँ भी आपको आसान लगे| मान के चलते हैं कि e: drive में python-program के नाम का फोल्डर हैं | अब VSCode खोले और file menu में Add folder to workspace के option को चुने और अपने फोल्डर यानी python-program फोल्डर को add करें|

How to add folder in VSCode

जैसे ही आपका फोल्डर workspace में add हो जाता हैं तो आपके फोल्डर के नाम के ऊपर तीन icon दिखते हैं| पहले icon में click करके new file बनाये अपने python-program फोल्डर के अंदर| ध्यान दे आपकी फाइल (.py) extension के साथ ही होनी चाहिए| अब आप अपना program लिख सकते है|

अब आप अपना program लिख सकते है| program लिखने के बाद right click करे और Run Python file in terminal option में क्लिक करके program को run करे | 

How to run python program in VSCode

Variables क्या है? (What is variables?)

Variables एक तरह के कंटेनर के नाम होते है, जैसे हम अपने किचन में अलग अलग सामान रखने के लिए डिब्बों उपयोग करते है| उन्ही डिब्बों को हम यहाँ पे कंटेनर कहते है| जैसे आटा रखने के लिए अलग कंटेनर, दाल रखने के लिए अलग कंटेनर, Oil रखने के लिए अलग कंटेनर आदि और उन सब में बाहर एक लेवल लगा देते है कि ये वाला कंटेनर आटा का हैं, ये वाला दाल का है| जो हम बाहर लेवल लगाते है उसी को कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में Variables कहते है| जैसे कंटेनर अलग अलग समान को Store करने का काम करता है वैसे ही Variables अलग अलग टाइप के data को Store करने का काम करता है| उदाहरण के तौर पर अगर आपको किसी User की उम्र (age ) बताना हो तो आप एक Variable बनाएंगे userAge और इस Variable उस User की उम्र Store करेंगे कुछ इस तरह-

userAge=30

और इसको Variables को Define करना भी कहते है| यहाँ ध्यान देने वाली यह बात है कि जैसे ही आप Variable को Define करते है वैसे ही आपका प्रोग्राम कंप्यूटर के Memory में कुछ जगह Allocate कर देता है और उस जगह को उस Variable की मदद से Access किया जा सकता है|

क्या हो सकते है Variables के नाम?

Python में Variables को Define करने के कुछ नियम होते है जो इस प्रकार है-

  1. Variables में केवल (a-z, A-Z), numbers (0 -9), तथा Underscore (_) ही सकते है|
  2. Variables का पहला Character कभी भी नंबर (0 - 9) नहीं हो सकता आप userName, Empid, Emp_sal, empid2 इस तरह के नाम Variables को दे सकते है लेकिन 2empid ऐसा नाम Variables का नहीं दे सकते क्युकी पहला Character 2 यानी Number है|
  3. Python programming में कुछ Reserved Word होते है यानी वो नाम जो पहले ही किसी को दिए जा चुके है उन्हें Keyword कहते है जैसे print, input, if, else, while, for आदि| इन Keyword को Variables के नाम के लिए उपयोग नहीं किया जा सकता|
  4. और आखिरी Variables का नाम Case Sensitive होता है मतलब username और userName दोनों अलग है|

आइये अब Python के Operators के बारे में समझते है| 

क्या होते है Operators?

Operators का हिन्दी अर्थ होता है चालक या परिचालक अर्थात पहले से दिए हुए Operand में कुछ Manipulation करना| Python प्रोग्रामिंग में ये operators कुछ Symbols के रूप में होते है और उन Symbols को कुछ Category में बांटा गया है|

  • Arithmetical Operators (+, -, *, /, //, %, ** )
  • Assignment Operators (=, +=, -=, *=)
  • Comparison/Relational Operators(<, >, <=, >=, ==)
  • Logical Operators AND, OR, NOT )
  • Identity Operators(is, is not)
  •  Membership Operators(in, not in)
  • Bitwise Operators (&, |, ^, ~, <<, >>)

ध्यान दे यहाँ Python में उपयोग होने वाले सारे Operators नहीं बल्कि कुछ important Operators के बारे में चर्चा है

Arithmetical Operators (+, -, *, /, //, %, ** )

Arithmetic operators वो operators होते है मैथमेटिकल ऑपरेशन करते है मतलब अगर दो number को add करना है तो plus (+) Operator और अगर minus करना हो तो (-) operator|

आइये समझते है उदाहरण से, मान लीजिए x = 3, y = 2

Addition
x+y=5
Subtraction
x-y=1
Multiplication
x*y=6
Division
x/y=1.5
Floor Division
x//y=1  (Point के बाद की value को round -off कर देता है)
Modulus
x%y=1 (यह ऑपरेटर reminder value को return करता है)
Exponent
x**y=9 (यह ऑपरेटर power value को return करता है-3**2=3*3=9)

Assignment Operators (=, +=, -=, *=)

Assignment Operators का उपयोग किसी Variable में value assign करने के काम में आता है| आइये उदाहरण से समझते है

int num=103;

इस उदहारण में num एक integer type variable है और उसमे (=) assignment operator से 103 value assign की गई है| 

int num=5;
num +=10;

इस उदहारण में num एक integer type variable है और उसमे (+=) assignment operator से 10 value assign करने से पहले num Variable में जो Value पहले से है उसमे ये Value add कर दी जाती है| यानी अब num की Value 5+10= 15 हो गई|  

int num=50;
num -=20;

इस उदहारण में num एक integer type variable है और उसमे (-=) assignment operator से 20 value assign करने से पहले num Variable में जो Value पहले से है उसमे ये Value Minus कर दी जाती है| यानी अब num की Value 50-20= 30 हो गई|  

int num=100;
num *=5;

इस उदहारण में num एक integer type variable है और उसमे (*=) assignment operator से 5 value assign करने से पहले num Variable में जो Value पहले से है उसमे ये Value multiply कर दी जाती है| यानी अब num की Value 100*5= 500 हो गई|  

Comparison/Relational Operators(<, >, <=, >=, ==)

Relational Operators वो Operators होते है जो अपने ओपरेंट्स के बीच का relation बताते है की कौन सा बड़ा है और कौन सा छोटा या फिर बराबर है| यह operator mostly if  ब्लॉक में उपयोग होता है| यह true और false return करता है कैसे आइये समझते है- मान लीजिये 

x=10,y=20 if (x>y) //return false or 0

यहाँ पे यह check किया जा रहा है की x की value क्या y से बड़ी है जो की गलत है इसलिए False या 0 return करेगा

if(x<y) //return True or 1

यहाँ पे यह check किया जा रहा है की x की value क्या y से छोटी है जो की सही है इसलिए True या 1 return करेगा

if(x<=y) //return True or 1
if(x>=y) //return False or 0

Logical Operators (AND, OR, NOT)

Logical Operators का उपयोग basically दो condition के बीच में किया जाता है मतलब की अगर दो condition को एक साथ if में चलाना है तो Logical Operators का उपयोग करते है कैसे, समझते है :- मान लीजिए
x =10,y=20,z=5
if (x<y AND y>z) // return True or 1
यहाँ पे दो Condition एक x<y और दूसरी y>z, अगर ये दोनों Condition सही होती है तो ही True Return करेगा नहीं तो False Return करेगा
if (x<y OR y<z) // return True or 1
यहाँ पे दो Condition एक x<y और दूसरी y<z, अगर कोई भी एक Condition सही होती है तो ही True Return करेगा नहीं तो False Return करेगा
if (x<y NOT y<z) // return True or 1
NOT में जब सारी Condition गलत होती है तो True Return करेगा नहीं तो False Return करेगा|